वो जब परेशां हो …

वो जब कभी, परेशान या रुसवां हो, तो मेरा ज़िक्र करना उसके सामने,
उसने ही कहा था एक दफा, तुम दिल बहलाने की अच्छी चीज हो …

Advertisements